Generation of Computers, Knowledge of Computer Generations 2022

 

Table of Contents

कंप्यूटर की पीढ़ियां (Generations Of Computers)

 Generation of Computers आज के वर्तमान Generation में कोई भी ऐसा व्यक्ति नहीं होगा, जिन्होंने Computer शब्द का नाम नहीं सुना होगा। आपने अपने घर में। ऑफिस में, कॉलेज में, अस्पतालों में विश्वविद्यालय में। या कोई भी संस्था आदि में कंप्यूटर का प्रयोग जरूर देखा होगा। या प्रयोग किया होगा। आज के कंप्यूटर इतने अधिक फास्ट है। जो कुछ ही क्षणों में बड़े से बड़े गन्ना गणना कर सकते हैं।

आज किसी भी ऑफिस का लगभग 90% काम Computer से होने लगा है लेकिन क्या आपने कभी सोचा है? कि क्या पहले भी इसी तरह के कंप्यूटर थे? पहले के लोगों के पास जब कंप्यूटर नहीं थे, तो वह गणना कैसे करते थे? पहले कंप्यूटर की कीमत क्या थी? ऐसे बहुत से सवाल है जो आपके दिमाग में उठते होंगे।

इन छोटे-छोटे प्रश्नों के जवाब के लिए मैंने आपके लिए आज की यह पोस्ट लिखा है। जिसमें मैं कंप्यूटर के Generation के बारे में बताऊंगा। पहले का कंप्यूटर आज के जैसा नहीं था आज मैं कंप्यूटर कुल 5 Generation के बारे में बताऊंगा।

Insert Tab in Power Point, पावर पॉइंट में इन्सर्ट टैब का उपयोग [2021]  kaise karen?

ऐसे तो कंप्यूटर का इतिहास काफी पुराना है लेकिन कंप्यूटर की शुरुआत सन 1946 में हुई थी। आज से लगभग 30000 वर्ष पहले एक यंत्र का निर्माण किया गया था जिसका नाम है। यह एक Counting फ्रेम होता है जिसका उपयोग छोटी-छोटी गणनाओं के लिए किया जाता था। ABACUS में हिंदू अरेबिक नंबर सिस्टम का प्रयोग किया गया था। जिसके हर छड़ में 0 से 9 तक की संख्या होती थी।

प्राचीन कंप्यूटर और आज के कंप्यूटर में जमीन आसमान  का अंतर है। वैसे तो इसकी शुरुआत हजारों वर्ष पहले हो चुकी थी। लेकिन इलेक्ट्रॉनिक उपकरण के निर्माण से कंप्यूटर के विकास से काफी मददगार है।

कंप्यूटर के विकास में समय-समय पर तकनीकों में काफी परिवर्तन हुआ है। इन्हीं परिवर्तनों को कंप्यूटर की पीढ़ियों में बांटा गया है। अब देखते हैं कंप्यूटर के पीढ़ियों बारे में।

कंप्यूटर का विकास (Computer Development)

कंप्यूटर का निर्माण जब से प्रारंभ हुआ तब से अब तक निश्चित रूप से कंप्यूटर का इतिहास हमेशा समय-समय पर विकसित होता रहा है। अर्थात बदलता रहा है। जबकि पहले कंप्यूटरों को केवल जोड़ और घटाव गणितीय संचालन के लिए उपयोग किया जा सकता था। परंतु अब इसका उपयोग डिजाइनिंग जैसे अधिक जटिल चीजों के लिए किया जा सकता है।

कंप्यूटर क्या है ? What is computer?

सबसे पहला Electronic Computer का नाम ENIAC (Electronic Numeric Integrator And Computer) था। Computer के विकास में First Generation के कंप्यूटर, Second Generation के कंप्यूटर, Third Generation के कंप्यूटर, Fourth Generation के कंप्यूटर। और अब हम जो कंप्यूटर का इस्तेमाल करते हैं उससे पांचवी Generation के कंप्यूटर में कई बदलाव हुए हैं।

कंप्यूटर के पीढ़ियों को निम्नलिखित 5 भागों में बांटा गया है। प्रत्येक पीढ़ी का निश्चित रूप से अपना इतिहास रहा है।

  1. कंप्यूटर की पहली पीढ़ी 1946 से 1956
  2. कंप्यूटर की दूसरी पीढ़ी 1956 से 1964
  3. कंप्यूटर की तीसरी पीढ़ी 1964 से 1971
  4. कंप्यूटर की चौथी पीढ़ी 1971 से 1985
  5. कंप्यूटर की पांचवी पीढ़ी 1985 से अब तक

 

1- कंप्यूटर की पहली पीढ़ी 1946 से 1956 (First Generation of Computers)

कंप्यूटर की पहली पीढ़ी में 1946 से लेकर 1956 तक बनने वाले सभी कंप्यूटर को रखा गया है। 1940 के बाद कंप्यूटर की पहली पीढ़ी कंप्यूटर के निर्माण के लिए एक बुनियादी कंपोनेंट के रूप में जाने जाते हैं। जो Vaccum Tube उपयोग करके बनाई गई थी। परंतु Vaccum Tube को सही नहीं माना जाता है। क्योंकि यह बहुत जल्दी गर्म होती है। और इसके लिए बहुत ज्यादा मात्रा में बिजली की आवश्यकता होती है।

Electronic Numeric Integrator And Computer यह कंप्यूटर की पहली पीढ़ी का एक उदाहरण है। जे प्रॉस्पर एकेर्ट और जॉन मौच्ली ने  पेनसिलवेनिया यूनिवर्सिटी में 18000 वैक्यूम ट्यूबों का उपयोग करके ENIAC का निर्माण किया।

ENIAC प्रोग्राम बनाने में 3 साल का समय लगा। हालाँकि इसे 1942 से डिजाईन किया गया था। यह केवल 1943 में शुरू हुआ और इसका निर्माण 1946 में पूरा हुआ। ENIAC का आकार इतना बड़ा था कि यह 500 मीटर स्क्वायर स्थान घेरता था।

इसके अलावा ENIAC 75000 रिले और स्विच, 18000 ट्यूब, 70000 प्रतिरोधक और 10,000 कैपेसिटर का उपयोग करके बनाया गया था। ऑपरेशन में ENIAC को एक बहुत बड़ी मात्रा में इलेक्ट्रिसिटी की आवश्यकता होती थी, जो 140 किलो वाट है।

कंप्यूटर की पहली पीढ़ी में प्रयुक्त भाषा मशीन लैंग्वेज का उपयोग किया गया। यह भाषा प्रोग्रामिंग भाषा में बेसिक भाषा है। और इससे केवल कंप्यूटर द्वारा समझा जा सकता है।

प्रथम पीढ़ी के कंप्यूटर की विशेषताएं (Features of first generation computers)

  • कंप्यूटर निर्माण के लिए सरल  थे और कंप्यूटर में डाटा स्टोरेज की भी सुविधा बनाई गई थी।
  • प्रथम पीढ़ी के कंप्यूटर में डाटा भंडारण के लिए चुंबकीय ड्रम का उपयोग होता था।
  • डाटा को सुरक्षित रखने के लिए पंच कार्ड का उपयोग होता था।
  • इस पीढ़ी के कंप्यूटर में प्रयुक्त भाषा असेंबली तथा मशीन भाषा थी। जहां सभी निर्देशों तथा डाटा 0 तथा 1 में दिया जाता था।
  • यह उस समय के अन्य उपकरणों की तुलना में तेजी से काम करने में सक्षम था।

प्रथम पीढ़ी के कंप्यूटर की कमियां (Disadvantages of first generation computers)

  • प्रथम पीढ़ी के कंप्यूटर का आकार काफी बड़ा था, लगभग 1 बड़े घर के आकार का इसलिए पोर्टेबल नहीं था। इस उपकरण का वजन लगभग 30 टन था।
  • प्रथम की पीढ़ी के कंप्यूटर में बहुत अधिक हीटिंग की समस्या थी और बिजली की खपत भी बहुत अधिक थी।
  • निर्देशों के आधार पर परिणाम बहुत देर से प्राप्त होते थे।
  • इस पीढ़ी के कंप्यूटर बहुत महंगे थे।
  • इस मशीन को हीटिंग नियंत्रण की आवश्यकता थी।
  • इसकी भाषा को केवल कंप्यूटर के द्वारा ही समझा जा सकता था।

कंप्यूटर की दूसरी पीढ़ी (Second Generation of Computers) 1956- 1964

इस पीढ़ी के अंतर्गत 1956 से लेकर 1964 तक बनने वाले सभी कंप्यूटर को रखा गया है। 1956 में Vaccum Tube को जो पहली पीढ़ी का बुनियादी उपकरण था। उससे ट्रांजिस्टर द्वारा बदल दिया गया था।

यह मुख्य उपकरण का प्रतिस्थापन किया जाता है क्योंकि ट्रांजिस्टर को Vaccum Tube की तुलना में बेहतर माना जाता है। इस ट्रांजिस्टर का आविष्कार 1947 में विलियम शॉक्ली तथा उनकी सहयोगी टीम द्वारा अमेरिका में किया गया था। एक ट्रांजिस्टर का उपयोग करके कंप्यूटर का आकार Vaccum Tube का उपयोग करने की तुलना में छोटा हो जाता है।

ऑपरेशन के लिए भी बिजली की कम खपत होती है। छोटे आकार के साथ यह दूसरी पीढ़ी का कंप्यूटर विश्वविद्यालयों, कंपनियों से लेकर सरकार तक में इसका उपयोग किया जाने लगा। इन कंप्यूटर को चलाने के लिए एक से दो व्यक्ति पर्याप्त होते थे। इन्हें एक स्थान से दूसरे स्थान पर ले जाना बहुत मुश्किल था। क्योंकि यह आकार में काफी बड़े थे।

इस तकनीकी का उपयोग सबसे पहले सुपर कंप्यूटर में किया गया था। आईबीएम ने स्प्रे रैंड और स्ट्रेच नामों के सुपर कंप्यूटर बनाएं। आईबीएम ने परमाणु ऊर्जा का उपयोग करके प्रयोगशाला में विकसित LARC नाम से कंप्यूटर भी बनाया।

1965 में विभिन्न बड़ी कंपनियों ने सूचना को संशोधित करने के लिए दूसरी पीढ़ी के कंप्यूटर का उपयोग करना प्रारंभ कर दिया।

कंप्यूटर की दूसरी पीढ़ी की विशेषताएं (Features of first generation computers)

  • दूसरी पीढ़ी के कंप्यूटर में मशीन लैंग्वेज के बदले Fortran और Cobol, Algol जैसे High Level Language का प्रयोग किया गया।
  • डाटा को सुरक्षित रखने के लिए External Memory के रूप में Magnetic Disk Punch Card और Magnetic Tape आदि का प्रयोग हुआ।
  • कंप्यूटर पर डाटा Stored रखने के लिए Magnetic Drum के बजाय मैग्नेटिक मेमोरी का प्रयोग हुआ।
  • पहली पीढ़ी की तुलना में कर्म Heating का उत्पादन।
  • पहली पीढ़ी के कंप्यूटरों की तुलना में अधिक विश्वसनीय।
  • पहली पीढ़ी की तुलना में आकार में छोटा और तेज, बिजली की खपत में बहुत कमी, इस पीढ़ी के कंप्यूटर की कीमत बहुत कम थी।

कंप्यूटर की तीसरी पीढ़ी (Third Generation of Computers) 1964- 1971

इस पीढ़ी के अंदर 1964 से 1971 तक बनने वाले सभी कंप्यूटर को रखा गया है। कंप्यूटर की तीसरी पीढ़ी के कंप्यूटर को Transistor के बजाय एक Integrated Circuit (IC) का उपयोग करके बनाया गया था।

Integrated Circuit का आविष्कार 1998 में Texas Instruments कंपनी के एक इलेक्ट्रिक इंजीनियर जैक किल्बी द्वारा किया गया था।

इस पीढ़ी में पहली बार Operating System के साथ Keyboard और Monitor का उपयोग किया गया था। इसके अलावा इस पीढ़ी के कंप्यूटर को बनाने में होने वाली लागत बहुत सस्ती थी। ताकि आम जनता इससे उपयोग कर सके। इस पीढ़ी के कंप्यूटर में पास्कल और फोट्रोन जैसे उच्च स्तरीय भाषा का प्रयोग किया गया था।

एम एस एक्सेल में होम टैब क्या है ? What is Home Tab in MS Excel?

तीसरी पीढ़ी के कंप्यूटर का परफॉर्मेंस दूसरी पीढ़ी के कंप्यूटर से काफी तेज था। इससे कंप्यूटर की दूसरी पीढ़ी को छोड़ दिया जाने लगा। जब इसकी तुलना पुराने कंप्यूटर से की जाती है तो देखा जाता है कि इस पीढ़ी कंप्यूटर में बहुत तेजी से बदलाव आया है। साथ ही इसका आकार, ऊर्जा की खपत, तथा कीमत आदि में भी कमी पाई।

तीसरी पीढ़ी की कंप्यूटर की विशेषताएं (Features of Third Generation Computers)

  • तीसरी पीढ़ी के कंप्यूटर में Transistor के स्थान पर Integrated Circuit का इस्तेमाल किया गया।
  • दूसरी पीढ़ी के कंप्यूटर की अपेक्षा इसकी लागत कम थी।
  • दूसरी पीढ़ी के कंप्यूटर से कम बिजली खपत करता था।
  • पहली पीढ़ी के कंप्यूटर की तुलना में इस कंप्यूटर की गति 10000 गुना थी।
  • तीसरी पीढ़ी के कंप्यूटर ऑपरेटिंग सिस्टम का प्रयोग हुआ जिससे मल्टिप्रोसेसिंग किया जा सकता था।

कंप्यूटर की चौथी पीढ़ी (Fourth Generation of Computers) 1971 – 1985

चौथी पीढ़ी के कंप्यूटर के अंदर 1971 से लेकर 1985 तक आने वाले सभी कंप्यूटर को रखा गया है। यह पीढ़ी के कंप्यूटर Circuit और Components के आकार को काम करने के साथ स्पष्ट विकास लक्ष्य के साथ बनाई गई थी।

इस पीढ़ी में Integrated Circuit के बजाय वेरी Very Large Scale Integration (VLSI) का प्रयोग किया गया जिसे माइक्रोप्रोसेसर (Microprocessor) के नाम से भी जाना जाता है।

Micro Processor के आने से Micro Computer का निर्माण हुआ। यह कंप्यूटर आसानी से पोर्टेबल था तथा इन्हें Table पर रख कर भी इस्तेमाल किया जा सकता था। यह कंप्यूटर User Friendly थे इन्हें समझना आसान था।

1984 में Apple ने पहली बार Macintosh को कंप्यूटर डिवाइस से चलाने के लिए एक Operating System के रूप में इस्तेमाल किया। कंप्यूटर की चौथी पीढ़ी बहुत तेजी से आगे बढ़ी है। यहां तक Mouse, Graphical User Interface और Portable Computer जिन्हें हम लैपटॉप के रूप में जानते हैं, का निर्माण हुआ था।

चौथी पीढ़ी के कंप्यूटर की विशेषताएं (Features of Fourth Generation Computers)

  • चौथी पीढ़ी के कंप्यूटर में Integrated Circuit के बजाय Very Large Scale Integration का उपयोग किया गया।
  • चौथी पीढ़ी के कंप्यूटर व्यक्तियों के लिए उपयुक्त था।
  • यह कंप्यूटर कुशल थे और इन्हें लैपटॉप की तरह कहीं भी ले जा सकता था। 
  • मेमोरी के स्थान पर Semiconductor Memory और Microprocessor का प्रयोग किया गया।
  • इस पीढ़ी के कंप्यूटर पर कार्य करने के लिए Operating System तथा कई सॉफ्टवेयर तैयार किए गए जैसे Word Processing, Spreadsheet, Database पर कार्य करना आसान हो गया।
  • इस पीढ़ी के कंप्यूटर को बहुत कम Air Conditioning की जरूरत होती थी।

कंप्यूटर के पांचवी पीढ़ी (Fifth Generation of Computers) 1985 से अब तक 

 

कंप्यूटर की पांचवी पीढ़ी के अंदर 1985 से लेकर अभी तक। तथा भविष्य में बनने वाले कंप्यूटर को रखा गया है। इस पीढ़ी के कंप्यूटर को परिभाषित करना कठिन है। क्योंकि यह कंप्यूटर अभी भी बनाने की प्रक्रिया में है।

इस पीढ़ी के कंप्यूटर में कृत्रिम बुद्धिमत्ता या Artificial Intelligence का प्रयोग किया जा रहा है। जो कंप्यूटर को इंसान के जैसा बनाने का माध्यम है। इससे यह कंप्यूटर मनुष्य के साथ बातचीत करने। और Voice के आधार पर निर्देशों का पालन करने वाले होंगे।

इस पीढ़ी में सभी उच्च स्तरीय भाषा। जैसे – C और C++, Java, .net आदि का उपयोग किया जाता है। पांचवी पीढ़ी के कंप्यूटर में Very Large Scale Integration Circuit  के स्थान पर Ultra Large Scale Integration Circuit का माइक्रो प्रोसेसर के साथ उपयोग किया गया।

आज के इस तकनीकी से माइक्रोप्रोसेसर के आकार में कमी आई तथा उनके कार्य करने की क्षमता में वृद्धि हुई। इन कंप्यूटर का प्रयोग Designing, Accounting, Research, Gaming, Multitasking आदि ने किया जाने लगा।

पांचवी पीढ़ी के कंप्यूटर की विशेषताएं (Features of Fourth Generation Computers)

  • Artificial Intelligence का उपयोग किया गया है। जिसे प्राप्त कर सकते हैं और उनसे बात भी कर सकते हैं, और निर्णय ले सकते हैं।
  • . इस पीढ़ी के कंप्यूटर के भण्डारण क्षमता बहुत अधिक है।
  • . यह कंप्यूटर पिछले चार पीढ़ियों के कम्प्यूटरों की तुलना में सस्ती है।
  • इन कंप्यूटर की आकर काफी छोटा है। जिसे कहीं भी आसानी से एक स्थान से दूसरे स्थान पर ले जाया जा सकता है।

आपने क्या सीखा?

दोस्तों इस पोस्ट में मैंने कंप्यूटर के पांच पीढ़ियों के बारे में जानकारी दिया हूँ। और आशा करता हूं की आपको यह जानकार अच्छी लगी  होगी। यदि आपको मेरा पोस्ट पसंद आया तो इसे अपने दोस्तों और सहपाठियों के साथ भी शेयर करें।

जिससे उन्हें भी यह जानकारी मिल सके। यदि आपको कंप्यूटर के किसी भी जेनरेशन को लेकर कोई सवाल है, तो आप हमें कमेंट करके बता सकते हैं। हम आपके सवालों का जवाब जितना जल्दी हो देने का प्रयास करेंगे।

इस पोस्ट को अंत तक पढ़ने के लिए आपको बहुत-बहुत धन्यवाद।

ये मेरे पहले के पोस्ट देखना न भूलें।

A to Z Keyboard Shortcut key [2022]

Transition Tab kya hai MS Power Point Hindi me 2021

Use of Design Tab in MS Power Point in हिंदी [2021] What is Design Tab in MS Power Point

Insert Tab in Power Point, पावर पॉइंट में इन्सर्ट टैब का उपयोग [2021]

कंप्यूटर क्या है ? What is computer?

व्यू टैब क्या है? व्यू टैब का प्रयोग एम एस एक्सेल में 

Computer Quiz Mix Part- 3 [2021]

Computer Quiz Mix Part- 2 [2021]

Computer Quiz Mix Part- 1 [2021]

एम एस एक्सेल में होम टैब क्या है ? What is Home Tab in MS Excel?

कंप्यूटर क्विज एम एस वर्ड पार्ट – 1 [COMPUTER QUIZ MS WORD PART -1]

कंप्यूटर क्विज एम एस वर्ड पार्ट – 2 [COMPUTER QUIZ MS WORD PART -2]

कंप्यूटर क्विज एम एस वर्ड पार्ट – 3 [COMPUTER QUIZ MS WORD PART -3]

View Tab kya hai? What is View Tab? Use of View Tab me 2021

Review tab ka use kaise karen.

कंप्यूटर क्या है ? What is computer?

एम एस वर्ड क्या है ? What is MS Word?

एम एस वर्ड में होम टैब क्या है ? What is Home Tab in MS Word?

एम एस वर्ड में इन्सर्ट टैब क्या है ? What is Home Tab in MS Word?

पेज लेआउट  टैब क्या है ? What is Home Tab?

माय यूट्यूब चैनल . My You Tube Channel.

Leave a Reply

Your email address will not be published.