History of Computer

History of Computer and its Development . कंप्यूटर का इतिहास और उसका विकास [2021]

     My Dear Friends आज समाज में कंप्यूटर और इलेक्ट्रॉनिक ने बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है। यहाँ हर क्षेत्र में जैसे communication, medicine, Science and Technology, Education, Railway, Banking etc. सभी जगहों पर कंप्यूटर का अपना प्रभाव दिखाई देता है। इसलिए अगर कंप्यूटर के इतिहास की पूरी जानकारी चाहिए तो फिर इसके प्रांरम्भिक विकासों को ध्यान से देखना होगा, तब आप सही से समझ सकते हैं। 

History of Computer

नमस्कार दोस्तों,

        आशा करता हूँ आप सभी बहुत अच्छे होंगे। और मेरी अगली पोस्ट का इंतजार कर रहे होंगे। तो दोस्तों आपका इंतजार हुआ ख़त्म और मैं रोज की तरह आज फिर से एक नए पोस्ट लेकर आ चूका हूँ। जिसका नाम है कंप्यूटर का इतिहास और उसका विकास। (History of Computer and its Development)

        आज कंप्यूटर को एक आधुनिक अविष्कार के रूप में देखा जाता है जिसमे Electronic Computing का प्रयोग हुआ है Electronic device के साथ. परन्तु अगर पहला गणना यन्त्र की बात करें तो इसका जवाब जरूर अबेकस होने वाला है। 

         Friends क्या आप जानते हैं एनालॉग कंप्यूटर को करीब हजारों वर्षों से प्रयोग किया जा रहा है, हमारे कम्प्यूटिंग डिवाइस के रूप में। वहीँ प्राचीन ग्रीक और रोमन ने सबसे पहले एंटीकीथेरा तंत्र का प्रयोग किया था। बाद में कुछ डिवाइस जैसे  Castle Clock, Slide Rule and Babbage’s Deference Engine (1822). इसी तरह के कुछ उदाहरण इन प्राचीन एनालॉग Computers के।

इसे भी देखें! 

एम एस एक्सेल में होम टैब क्या है ? What is Home Tab in MS Excel?

कंप्यूटर क्विज एम एस वर्ड पार्ट – 1 [COMPUTER QUIZ MS WORD PART -1]

      उसके बाद जब इलेक्ट्रिसिटी पावर आया तो 19 वीं शताब्दी में नया इलेक्ट्रिकल और हाइब्रिड इलेक्ट्रो – मैकेनिकल डिवाइस दोनों का विकास प्रारम्भ हो गया जो दोनों- Digital और Analog Calculation करने में सक्षम थे। 

      इसके बाद में आई टेलीफोन स्वीचिंग, जिसके आने से मशीनों का विकास होना प्रारम्भ हो गया। जिसे हम प्राचीन कंप्यूटर के नाम से जानते हैं। 

History of Computer and its Development (कंप्यूटर का इतिहास और इसका विकास)

 

       क्या आपको पता है, कंप्यूटर का इतिहास कितना पुराना है? यदि आपको कंप्यूटर के बारे में जानना है, तो आपको इससे पहले ये जानना होगा की प्राचीन काल में मनुष्य बड़े – बड़े सख्याओं का हिसाब कैसे करते थे। छोटे – छोटे संख्याओं का हिसाब तो बड़ी आसानी से हाथों की अँगुलियों को गिनती करके भी कर लेते थे। परन्तु जब बड़े नम्बरों की बारी आई तो समस्या खड़ा हुआ और इसी तरह एक – दो नहीं बल्कि अनेक प्रकार की मशीनों का अविष्कार किया गया। 

       हिसाब करने की इस प्रक्रिया में बहुत से संख्या पद्धति का प्रयोग किया जाता था जैसे – बेबीलोन का संख्या प्रणाली, ग्रीक का संख्या प्रणाली, रोमन का संख्या प्रणाली और भारत का सख्या प्रणाली। 

       इन सभी संख्या प्रणालियों में से सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण दिया गया वो है भारतीय संख्या प्रणाली (Indian System of Numeration) यह संख्या की आधुनिक संख्या प्रणाली पर आधारित है। यह संख्या 0-9 तक की होती है। परन्तु दोस्तों क्या आपको पता है कंप्यूटर ये दशमलव संख्या को नहीं समझ सकता है। यह जो समझता है, वह है बाइनरी संख्या प्रणाली जो की 0 और 1 होता है। कंप्यूटर बस इसे ही समझता है और प्रोसेस करता है। 

इसे भी देखें! 

कंप्यूटर क्या है ? What is computer?

एम एस वर्ड क्या है ? What is MS Word?

अविष्कार किये गए कुछ मशीन (Some Invented Machine)

       दोस्तों Calculating करने के लिए कई प्रकार के मशीनों का अविष्कार किया गया। जिसमे सबसे पहला था –

1. ABECUS-

       यह Calculating मशीन में सबसे पहले अविष्कार किया गया मशीन है। इसका अविष्कार चीन में आज से लगभग 3000 वर्ष पहले किया गया था। यह लकड़ी का एक Calculating Board बनाया गया था जिसमे Horizontal Points में छड़ लगा होता था और उसमे छोटे छोटे आकार के लकड़ी के गोलियां लगी रहती है। इसमें कई Horizontal छड़ लगा होता जिसमे 10 -10 गोलियां लगा होता है। यह इकाई, दहाई और सैकड़े को दर्शाती है। 

Abecus

इसे भी देखें!

एम एस वर्ड में होम टैब क्या है ? What is Home Tab in MS Word?

एम एस वर्ड में इन्सर्ट टैब क्या है ? What is Home Tab in MS Word?

2. Napier’s Bones-

      सन 1617 ईस्वी में गणितज्ञ जॉन नेपियर ने कैलकुलेशन के उद्देश्य से एक मशीन का अविष्कार किया। इसे नापिएर्स बोन्स कहा जाता है इस मशीन को बनाने में हाथी के हड्डी का उपयोग किया गया था और उन सभी हड्डियों में कुछ नम्बरों की छपाई भी की गई थी।  

Napier’s Bones

3. Slide Rule-

     Slide Rule का विकास अंग्रेजी गणितज्ञ एडमंड गुंटेर (Edmund Gunter) ने किया था। यह मशीन विशेष रूप से जोड़, घटाव, गुना तथा भाग करने के लिए किया जाता था। इसका 16 वीं शताब्दी में पुरे यूरोप में सबसे ज्यादा प्रयोग किया गया था. 

Slide Rule

इसे भी देखें!

पेज लेआउट  टैब क्या है ? What is Home Tab?

माय यूट्यूब चैनल . My You Tube Channel.

4. Adding Machine Blaise Pascle-

      फ्रांस के वैज्ञानिक और गणितज्ञ ब्लेज पास्कल ने सन 1642 और 1644 के बीच एक मशीन का अविष्कार किया था। यह मशीन जोड़ और घटाव कर सकता था। यह पहला कैलकुलेटर या एडिंग मशीन था। 

Blaise Pascle Calculating Machine

5. Multiplying Machine-

     वैज्ञानिक Gottfried ने पास्कल की मशीन को और ज्यादा विकसित किया तथा उन्होंने एक ऐसी मशीन तैयार किया जो अनेक प्रकार के गणितीय प्रश्नों को हल कर सकता था। कैलकुलेटर का अविष्कार इन्होने ही किया था। 

Multiplying Machine

6. Jacquard Loom Machine-

     सन 1801 ई0 में एक फ़्रांसिसी बुनकर जोसेफ जेकार्ड (Weabier Joseph Marie Jacquard) ने कपड़े बुनने के ऐसे लूम का अविष्कार किया जो कपड़ों में स्वतः पैटर्न डिज़ाइन बना देता था। इसमें जो डिज़ाइन बनकर तैयार होता था वह मोटा घना कपड़ा होता था। इसकी यह कार्ड बोर्ड के छिद्रित पंच कार्डों के साथ कपड़े के पैटर्न को नियंत्रित करता था। 

Jacquard Loom

इसे भी देखें!

Computer Quiz Mix Part- 3 [2021]

Computer Quiz Mix Part- 2 [2021]

Deference Engine of Charl’s Babbege   ( चार्ल्स बैबेज का डिफरेंस इंजन)

      सन 1813 में प्रसिद्ध ब्रिटिश गणितज्ञ चार्ल्स बैबेज ने गणितों  की जटिल गणनाओं को सरल करने के लिए एक ऐसा मशीन का अविष्कार किया, जिसे डिफरेंस इंजन कहते हैं। बाद में उसने सामान्य कार्यों को पूरा करने के लिए एक मशीन को विकसित किया जिसे विश्लेषिक इंजन (Anlytical Engine) के नाम से जाता था। यह मशीन बहुत शक्तिशाली था। चार्ल्स बैबेज का कंप्यूटर के विकास में बहुत बड़ा योगदान रहा है। चार्ल्स बैबेज द्वारा बनाया गया एनालिटिकल इंजन आज के आधुनिक कंप्यूटर का आधार बना। इसी कारन चार्ल्स बैबेज को कंप्यूटर विज्ञान का पितामह है। 

Diference Engine

Dr. Howard Aiken’s ( डॉक्टर हॉवर्ड आइकन) 

       सन 1940 ई0 में इलेक्ट्रॉनिक कंप्यूटिंग बहुत आगे निकल चुकी थी। IBM कंपनी चार मुख्य इंजीनियरों और डॉ हॉवर्ड आइकन ने सन 1944 में एक मशीन का विकास किया जो विश्व का पहला विद्युत यांत्रिक कंप्यूटर था और इसका Official नाम Automatic Sequence Controlled Calculator) रखा गया। इस मशीन को सन 1944 के फरवरी माह में भेजा गया था जो अगस्त 1944 को प्राप्त हुआ।

Automatic Sequence Controlled Calculator

A.B.C. (Atanasoff- Berry Computer)

      दोस्तों सन 1945 में एटानासॉफ और क्लोफोर्ड बेर दोनों ने मिलकर एक इलेक्ट्रॉनिक मशीन का विकास किया जिसका नाम A.B.C. रखा गया। A.B.C. का पूरा नाम Atanasoff Berry Computer है और यह सबसे पहला इलेक्ट्रॉनिक डिजिटल कंप्यूटर था। (Electronic Digital Computer).

ABC Computer

धन्यवाद!

 

इसे भी देखें!  

कंप्यूटर क्या है ? What is computer?

Review tab ka use kaise karen.

एम एस वर्ड क्या है ? What is MS Word?

होम टैब क्या है ? What is Home Tab?

इन्सर्ट टैब क्या है ? What is Home Tab?

पेज लेआउट  टैब क्या है ? What is Home Tab?

माय यूट्यूब चैनल . My You Tube Channel.

5 thoughts on “History of Computer

Leave a Reply

Your email address will not be published.