Types of Computer

Types of Computer कंप्यूटर के प्रकार

Dear Friends आज की दुनिया Computer की दुनिया बन गई है। आजकल जिधर देखो उधर Computer ही Computer नजर आता है। चाहे किसी भी Office में चले जाए। किसी कंपनी में चले जाए सभी जगह कंप्यूटर दिखाई देते हैं। जिसमें कई प्रकार के Computer देखने को मिलते हैं।

https://computernoteshindi.com/types-of-computer/

TYPES OF COMPUTER

दोस्तों आइए जानते हैं Types of Computer (कंप्यूटर के प्रकार) के बारे में। कंप्यूटर कितने प्रकार के होते हैं? कंप्यूटर के कौन-कौन से प्रकार है? इन सभी के क्या कार्य हैं? 

कंप्यूटर के प्रकार Types of Computer

कंप्यूटर को मुख्य रूप से तीन भागों में बांटा गया है

  1. अनुप्रयोग के आधार पर (Based on Application)
  2. उद्देश्य के आधार पर (Based on Purpose)
  3. आकार के आधार पर (Based on Size)

अब देखते हैं इन सभी के बारे में अलग-अलग एक-एक करके

अनुप्रयोग के आधार पर कंप्यूटर (Based on Application)

 

अनुप्रयोग के आधार पर कंप्यूटर को मुख्य रूप से तीन भागों में बांटा गया है

  1. एनालॉग कंप्यूटर (Analog Computer) 
  2. डिजिटल कंप्यूटर (Digital Computer)
  3. हाइब्रिड कंप्यूटर  (Hybrid Computer)

 

एनालॉग कंप्यूटर (Analog Computer) 

एनालॉग कंप्यूटर क्या होता है? Analog Computer ऐसा कंप्यूटर है जिसका उपयोग मुख्य रूप से विज्ञान और इंजीनियरिंग के क्षेत्र में किया जाता है। यह कंप्यूटर भौतिक मात्राओं को मापने का काम करता है। जैसे के दाब, तापमान, गति, लंबाई, प्रतिरोध इत्यादि का मापन करके उनके परिणाम को अंको में व्यक्त करते हैं। यह कंप्यूटर किसी भी राशि का मापन तुलना के आधार पर करते हैं जैसे कि थर्मामीटर।

थर्मामीटर गणना नहीं करता बल्कि संसाधित प्रसार की तुलना करके शरीर के तापमान को बताता है।

https://computernoteshindi.com/?p=1809&preview=true

tharmameter

एनालॉग कंप्यूटर के अन्य उदाहरण है एक साधारण घड़ी (Digital Watch), गाड़ियों में लगी मीटर (Speedometer), वोल्टमीटर (Voltmeter) इत्यादि।

https://computernoteshindi.com/?p=1809&preview=true

Speedo meter

डिजिटल कंप्यूटर (Digital Computer)

डिजिटल कंप्यूटर क्या है? डिजिट (Digit) का अर्थ होता है डिजिटल पद्धति में अंक अपने स्थान से विस्थापित हो सकते हैं। इलेक्ट्रॉनिक घड़ी अथवा केलकुलेटर डिजिटल पद्धति पर ही आधारित है। आजकल बाइक (Bike), कार (Car) इत्यादि में भी डिजिटल मीटर का उपयोग किया जाता है। यह Digital Computer कंप्यूटर का एक उदाहरण है। इनमें सभी अंक 8 पर आधारित होते हैं। क्योंकि, आठ ही ऐसा अंक है जिस के विभिन्न भागों को प्रदर्शित कर के अलग-अलग अंगों को दिखाया जा सकता है। अंक 8 को सात प्रदीप्त तारों से बनाया जाता है। अलग-अलग अंगों के लिए इनमें से कुछ लोगों को प्रदीप्त करके प्रदर्शित किया जा सकता है।

https://computernoteshindi.com/?p=1809&preview=true

DIGITAL NUMBER

आज के वर्तमान समय में अधिकांश कंप्यूटर डिजिटल कंप्यूटर की श्रेणी में आते हैं। इसमें गणना करने के लिए द्विआधारी अंक पद्धति 0 या 1 का प्रयोग किया जाता है। इनकी गति बहुत तीव्र होती है।

डिजिटल कंप्यूटर में डाटा और प्रोग्राम 0 और 1 के रूप में संग्रहित होते हैं।

हाइब्रिड कंप्यूटर (Hybrid Computer)

हाइब्रिड कंप्यूटर क्या है? Hybrid Computer में Analog Computer और Digital Computer इन दोनों के गुण पाए जाते हैं। यह कंप्यूटर अनेक गुणों से युक्त होते हैं। इसलिए इसे हाइब्रिड कंप्यूटर कहते हैं। इस कंप्यूटर का उपयोग चिकित्सा में अधिक होता है जैसे एनालॉग कंप्यूटर किसी रोगी के तापमान या रक्तचाप को मारता है और बाद में डिजिटल भागों के द्वारा अंत में बदल दिए जाते हैं। किससे रोगी के स्वास्थ्य के बारे में सही पता चलता है।

https://computernoteshindi.com/?p=1809&preview=true

उद्देश्य के आधार पर कंप्यूटर का प्रकार (Types of Computer Based on Purpose)

उद्देश्य के आधार पर कंप्यूटर को मुख्य रूप से दो भागों में बांटा गया है।

  1. सामान्य उद्देश्य कंप्यूटर और (General Purpose Computer)
  2. विशिष्ट उद्देश्य कंप्यूटर (Special Purpose Computer)

 

समान उद्देश्य कंप्यूटर (General Purpose Computer)

समान उद्देश्य कंप्यूटर यह वैसे कंप्यूटर हैं जिनमें सामान्य प्रकार के सभी कार्य किए जा सकते हैं, चाहे वह विज्ञान, वाणिज्य, इंजीनियरिंग अथवा शिक्षा आदि किसी भी क्षेत्र से संबंध रखते हैं। विभिन्न प्रकार के कार्यों को एक ही कंप्यूटर से किया जा सकता है। और ऐसा कंप्यूटर जिस पर सभी कार्य संभव है। सामान्य उद्देश्य कंप्यूटर कहलाता है। इस प्रकार के कंप्यूटर सबसे अधिक प्रयोग किए जाते हैं।

विशिष्ट उद्देश्य कंप्यूटर (Special Purpose Computer)

विशिष्ट उद्देश्य कंप्यूटर- ऐसे कंप्यूटर होते हैं जो किसी विशेष कार्य को करने के लिए तैयार किए जाते हैं।

इन कंप्यूटर के CPU की क्षमता सामान्य उद्देश्य कंप्यूटर की तुलना में बहुत अधिक होती है। इन कंप्यूटर का उपयोग अंतरिक्ष विज्ञान, मौसम विज्ञान,, अनुसंधान एवं शोध, यातायात नियंत्रण, प्रक्षेपास्त्र का नियंत्रण, कृषि विज्ञान चिकित्सा, इंजीनियरिंग इन क्षेत्रों में किया जाता है।

सबसे अच्छा लैपटॉप ख़रीदे 

आकार के आधार पर कंप्यूटर के प्रकार (Types of Computer Based on Size)

जो आकार के आधार पर कंप्यूटर को कई भागों में बांटा गया है जो निम्नलिखित हैं।

  • मेनफ्रेम कंप्यूटर (Mainframe Computer)
  • मिनी कंप्यूटर (Mini Computer)
  • माइक्रो कंप्यूटर (Micro Computer)
  • सुपर कंप्यूटर (Super Computer)

मेनफ्रेम कंप्यूटर (Mainframe Computer)

मेनफ्रेम कंप्यूटर क्या है? – यह वे कंप्यूटर होते हैं जो आकार में काफी बड़े होते हैं। साथ ही इसके कार्य करने की क्षमता अधिक होती है। तथा इसमें माइक्रो प्रोसेसर की संख्या भी अधिक होती है। इसमें अधिक मात्रा में डाटा पर तीव्रता से प्रोसेस किया जा सकता है। और इसके कार्य करने और संग्रहण की क्षमता अधिक तथा गति अत्यंत तीव्र होती है।

https://computernoteshindi.com/?p=1809&preview=true

Mainframe Computer

इसमें मुख्य रूप से 32 या 64 बिट Micro Processor का प्रयोग किया जाता है। इस पर एक साथ कई लोग अलग-अलग कार्य कर सकते हैं। इसलिए इनका उपयोग बड़ी कंपनियां, बैंक, टेलीकॉम सर्विस आदि में एक केंद्रीय कंप्यूटर के रूप में किया जाता है।

मेनफ्रेम कंप्यूटर को एक Network या Miro Computer से परस्पर जोड़ा जा सकता है। तथा इसमें ऑनलाइन रहकर बड़ी मात्रा में डाटा प्रोसेसिंग किया जा सकता है। इसका उपयोग मुख्य रूप से बड़ी कंपनियों, बैंक रक्षा, अनुसंधान अंतरिक्ष आदि क्षेत्रों में किया जाता है।

मिनी कंप्यूटर (Mini Computer)

मिनी कंप्यूटर क्या है? Mini Computer का आकार Micro Computer से बड़ा और Mainframe Compute से छोटा होता है। इस कंप्यूटर की कीमत भी माइक्रो कंप्यूटर से ज्यादा होती है। इस कंप्यूटर पर एक समय में 1 से ज्यादा लोग काम कर सकते हैं। मिनी कंप्यूटर का उपयोग बड़ी-बड़ी कंपनियों में, यातायात में यात्रियों के आरक्षण के लिए, सरकारी ऑफिस में, बैंकों में बैंकिंग कार्यों के लिए किया जाता है।

https://computernoteshindi.com/?p=1809&preview=true

MINI COMPUTER

Digital Equipment कॉरपोरेशन ने सन 1965 में PDP-8 यह सबसे पहला मिनी कंप्यूटर तैयार किया था। और इस कंप्यूटर की कीमत $18000 थी। और वह एक रेफ्रिजरेटर के आकार का था।

माइक्रो कंप्यूटर (Micro Computer)

माइक्रो कंप्यूटर क्या है? सन 1970 में माइक्रो कंप्यूटर का विकास हुआ था। यह कंप्यूटर आकार में छोटे होते हैं। यह कंप्यूटर को डेस्क पर या ब्रीफकेस में भी रख सकते हैं। इन छोटे कंप्यूटर को माइक्रो कंप्यूटर कहते हैं।

इस तरह के कंप्यूटर का उपयोग खास तौर पर पर्सनल काम करने के लिए किया जाता है। इसलिए इस कंप्यूटर को पर्सनल कंप्यूटर (Personal Computer) भी कहा जाता है।

https://computernoteshindi.com/?p=1809&preview=true

माइक्रो कंप्यूटर एक डिजिटल कंप्यूटर है, जो माइक्रो प्रोसेस पर काम करता है। छोटे बड़े व्यापार में माइक्रो कंप्यूटर का बहुत महत्व है। इस तरह के कंप्यूटर का उपयोग घरों में, विद्यालयों में, ऑफिस में, व्यापार में, चिकित्सा में उत्पादन में, रक्षा में, मनोरंजन इत्यादि में किया जा रहा है।

माइक्रो कंप्यूटर के निम्नलिखित गुण होते हैं।

यह आकार में छोटा होता है, कीमत में सस्ते होते हैं, एक माइक्रोप्रोसेसर से काम करता है, तथा इसके संग्रहण क्षमता सीमित होती है।

सुपर कंप्यूटर (Super Computer)

सुपर कंप्यूटर क्या है? आज जितने भी कंप्यूटर हैं उन कंप्यूटरों में सुपर कंप्यूटर सबसे बड़ा, सबसे ज्यादा तीव्रता वाले, अधिक संग्रह क्षमता वाले कंप्यूटर होते हैं। इसमें कई माइक्रोप्रोसेसर एक साथ काम करते हैं। और किसी भी समस्याओं का समाधान तुरंत देते हैं।

सुपर कंप्यूटर एक सेकंड में एक अरब गणना कर सकता है। और मेगा फ्लॉप से इसकी गति को मापते हैं। सुपर कंप्यूटर आकार में बड़े होते हैं, और इसे ठंडा करने के लिए विशेष व्यवस्था करने पड़ते हैं।

https://computernoteshindi.com/?p=1809&preview=true

SUPER COMPUTER

सुपर कंप्यूटर में एक से अधिक CPU होते हैं और इस कंप्यूटर पर एक से अधिक व्यक्ति काम कर सकते हैं। इन कंप्यूटर का उपयोग मौसम संबंधित अनुसंधान, अंतरिक्ष यात्रा, सैन्य और वैज्ञानिक अनुसंधान के लिए किया जाता है। हमारा देश भारत भी उन गिने-चुने देशों की श्रेणी में शामिल है। जिसके पास अपना बनाया गया सुपर कंप्यूटर है। भारत के पास “परम-10000″ नाम का एक सुपर कंप्यूटर है। जिसे C-DAC कंपनी पुणे में सन1988 में तैयार किया। इसकी जन्नत क्षमता 100 गीगा फ्लॉप अर्थात एक खरब गणना प्रति सेकंड है। 

सुपर कंप्यूटर के निर्माण का C-DAC के निदेशक विजय भास्कर को दिया जाता है। इस तरह के सुपर कंप्यूटर विश्व के कुल 5 देशों अमेरिका, जापान, चीन, इजरायल, और भारत के पास भी उपलब्ध है।

यह कंप्यूटर बहुत शक्तिशाली और महंगा होता है।

किताब पढ़े और लोगों को अपने ओर आकर्षित करने की कला सीखें। 

आपने क्या सीखा?

दोस्तों आज की पोस्ट में मैंने कंप्यूटर के विभिन्न प्रकार के बारे में विस्तार से जानकारी देने की कोशिश की है। जिसमे कंप्यूटर के विभिन्न प्रकार जैसे एनालॉग कंप्यूटर, डिजिटल कंप्यूटर, हाइब्रिड कंप्यूटर, मेनफ़्रेम कंप्यूटर, माइक्रो कंप्यूटर, मिनी कंप्यूटर, सुपर कंप्यूटर आदि के बारे में जानकारी दी है। आशा करता हूँ यह पोस्ट आपको अच्छा लगा होगा। अगर आपको अच्छा लगा हो तो कृपया अपने दोस्तों को भी शेयर करे ताकि उन्हें भी यह जानकारी मिल सके।

धन्यवाद! 

Previous Post Link देखना ना भूलें।

Computer MCQ- 14 [2022]

What is Memory of Computer?

कंप्यूटर MCQ 6

कंप्यूटर का इतिहास एवं उसका विकास 

A to Z Keyboard Shortcut key [2022]

Transition Tab kya hai MS Power Point Hindi me 2021

Use of Design Tab in MS Power Point in हिंदी [2021] What is Design Tab in MS Power Point

Insert Tab in Power Point, पावर पॉइंट में इन्सर्ट टैब का उपयोग [2021]

What is computer?

व्यू टैब क्या है? व्यू टैब का प्रयोग एम एस एक्सेल में 

एम एस एक्सेल में होम टैब क्या है ? What is Home Tab in MS Excel?

होम टैब क्या है ?

इन्सर्ट टैब क्या है ?

पेज लेआउट  टैब क्या है ?

कंप्यूटर क्या  वीडियो है?

One thought on “Types of Computer

Leave a Reply

Your email address will not be published.